श्री अय्यप्पा पब्लिक स्कूल में ‘ओणम एवं रक्षा बंधन पर्व‘ धूमधाम से संपन्न

बोकारो
28 सितम्बर को श्री अय्यप्पा पब्लिक स्कूल के प्रांगण में फूलों व रंगों से सुसज्जित रंगोली प्रतियोगिता हुई, जो चन्द्रयान 3, ओणम एवं वसूधैव कुटुम्बकम के मूल विषय पर आधारित थी। यह प्रतियोगिता इंटर हाऊस प्रतियोगिता थी जिसमें कक्षा छह से लेकर बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया।

https://rashtriyamukhyadhara.com/wp-content/uploads/2023/10/nagada-Ad-1a-e1696547149782.jpg

सर्वप्रथम मुख्य अतिथि विद्यालय के अध्यक्ष राजगोपाल ने दीप प्रज्जवलित करके प्रतियोगिता की शुरुआत की। इस प्रतियोगिता के निर्णायक में अध्यक्ष राजगोपाल बोर्ड ऑफ डायरेक्टर के. ए. सुरेश एवं वासुदेवन नंबूदरीपाद ने अपना निर्णय दिया। प्रथम स्थान पर पैरीयार एवं गंगा हाउस रहा। द्वितीय स्थान पर पम्पा एवं तृतीय स्थान पर कावेरी हाउस रहा। इसके बाद महाबली का आगमन हुआ एवं तिरूवातिरकली एवं मोहिनीअट्टम नृत्य बच्चों द्वारा प्रस्तुत किया गया।, इसके बाद पुली कली नृत्य जिसमें बाघ के रूप में पौराणिक कथा के आधार पर नृत्य प्रस्तुत कर बच्चों ने सभी का मनमोह लिया। इस अवसर पर उपाध्यक्ष मोहनन आर नायर और शशिन्द्रन कराट, बोर्ड सदस्य सुरेश कुमार के. ए., बाबू राज तथा बी. शाजीन शमिल थे।

समापन से पहले रंगोली प्रतियोगिता में विजेता वर्ग के छात्र- छात्राओं को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीया स्थान पर आने के लिए पुरस्कार प्रदान किया गया। साथ ही साथ बाकी प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। साथ ही साथ विद्यालय के प्राथमिक वर्ग विद्यार्थियों द्धारा कक्षा में हस्त निर्मित, राखी द्धारा विद्यालय के सभी गण-मान व्यक्तियों को राखी बाँधकर छात्र- छात्राओं ने रक्षा बंधन का पर्व भी उल्लास के साथ मनाया।

इस कार्यक्रम के बाद विद्यालय के अध्यक्ष राजगोपाल अध्यक्ष एवं सभी मेमबर ने ओणम एवं रक्षाबंधन के अवसर पर सभी को शुभकामना दी। बच्चों को उनके कला एवं सुन्दर रंगोली कला को निखारने के लिए बधाई दी। निदेषक डा. एस. एस. महापात्रा ने भी बच्चों को बधाई देते हुए कहा कि विद्यालय के सभी बच्चों को ऐसे प्रतियोगिता में बढ़-चढ़ का हिस्सा लेना चाहिए एवं अपने अंदर के कलाकार को निखारना चाहिए।

अंत में विद्यालय के प्राचार्या पी. शैलजा जय कुमार ने भी ओणम एवं रक्षा बंधन के महत्व के बारे में बच्चों को बताया कि इससे जीवन में सकारात्मक उर्जा आती है, जिससे तन-मन दोनो ही खुशियों से भर जाता है।

कार्यक्रम को सफल बनाने में उपप्राचार्या राजालक्ष्मी, सभी इंचार्ज सुमंगला, कु. विजया भासन, आशा पी. कुमार, सजीव एस., योगेश कुमार एवं संजय कुमार, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं तथा विद्यार्थि परिषद ने भी महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *