विधानसभा की लोक लेखा समिति ने की विभिन्न विभागों की समीक्षा

– शिविर लगाकर बिजली बिल को सही करने व डेंगू से बचाव को लेकर दिया फॉगिंग का निर्देश

बोकारो : झारखंड विधानसभा की लोक लेखा समिति की बैठक बुधवार को बोकारो परिसदन में सभापति नीलकंठ सिंह मुण्डा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में समिति के सदस्य चंदनकियारी विधायक अमर कुमार बाउरी, कोलेबिरा विधायक नमन विक्सल कोनगाड़ी, उपायुक्त कुलदीप चौधरी, पुलिस अधीक्षक प्रियदर्शी आलोक, वन प्रमंडल पदाधिकारी रजनीश कुमार, उप विकास आयुक्त श्रीमती कीर्तीश्री जी, अपर नगर आयुक्त अनिल कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी चास दिलीप प्रताप सिंह शेखावत समेत सभी विभागों के वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।
राज्य में डेंगू के बढ़ रहे मामलों को लेकर बैठक में समिति ने प्रशासन से सतर्कता बरतने और सभी जरूरी कदम उठाने को कहा। सभापति श्री मुंडा ने जिला प्रशासन को नगर निगम, नगर परिषद, प्रखंड एवं पंचायत क्षेत्रों में नियमित फॉगिंग कराने का निर्देश दिया। समीक्षा क्रम में उपभोक्ताओं के बीच दोगुना बिजली विपत्र वितरण की बात सदस्य अमर कुमार बाउरी द्वारा उठाए जाने पर लोक लेखा समिति के सभापति नीलकंठ सिंह मुण्डा ने जिला प्रशासन से सभी पंचायतों व गांवों में शिविर लगाकर ऐसे विपत्रों को ठीक करने का निर्देश दिया। साथ ही, बीडीओ के माध्यम से शिविर की जानकारी सभी मुखिया, पंचायत समिति सदस्य, वार्ड सदस्य को पूर्व में देने एवं शिविर का सफल आयोजन करने को कहा। 
बैठक में समिति के सभापति श्री मुण्डा ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा जिलावार विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए राशि निर्गत की जाती है। जिले में संचालित कुछ योजनाओं में ऑडिट जनरल कार्यालय द्वारा कुछ कंडिकाएं अंकित की जाती हैं। ऑडिट जनरल कार्यालय द्वारा अंकित कंडिकाओं के ऑडिट के लिए स्थल का निरीक्षण किया जाता है, जिससे संबंधित योजनाओं की वस्तुस्थिति का पता चल सके। इसी संदर्भ में विधानसभा स्तर पर गठित लोक लेखा समिति कार्य करती है।

इसी क्रम में समिति ने कृषि विभाग, ग्रामीण कार्य विभाग, समाज कल्याण महिला एवं बाल विकास विभाग, भवन निर्माण विभाग, शहरी विकास विभाग, स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार विभाग, वाणिज्यकर विभाग, उत्पाद विभाग, परिवहन विभाग, राजस्व एवं भू सुधार विभाग आदि विभागों से संबंधित कंडिकावार ऑडिट जनरल कार्यालय द्वारा उठाए गए प्रश्नों का उत्तर संबंधित विभाग के वरीय पदाधिकारियों से प्राप्त किया। इस दौरान कई प्रश्नों का संतोषजनक जवाब प्राप्त होने पर समिति द्वारा कुछ मामलों को ड्रॉप करने की अनुशंसा की गई। वहीं, कुछ मामलों में राज्य स्तर पर विभागों के सचिव/तकनीकी विभागों के अधीक्षण अभियंता/मुख्य अभियंता आदि की उपस्थिति में पुनः कंडिका (प्रश्न) को रखने को लेकर कार्रवाई के लिए संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया। साथ ही, कुछ मामलों का जवाब संतोषजनक नहीं होने एवं प्रतिवेदन अपूर्ण होने पर वरीय पदाधिकारियों को एक माह के अंदर पूर्ण प्रतिवेदन समिति को समर्पित करने का निर्देश दिया।  

बैठक में अपर समाहर्ता मेनका, सिविल सर्जन डा. दिनेश कुमार, जिला कल्याण पदाधिकारी मनीषा वत्स, विशेष कार्य पदाधिकारी कुमार कनिष्क, कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता विभाग चास राम प्रवेश राम, तेनुघाट शशि शेखर, कार्यपालक अभियंता विद्युत चास एस बी तिवारी, जिला कृषि पदाधिकारी उमेश तिर्की, कार्यपालक अभियंता विशेष प्रमंडल मृणाल, आइटी मैनेजर संजय कुमार समेत सभी संबंधित विभागों के वरीय पदाधिकारी/कर्मी आदि उपस्थित थे। इससे पूर्व उपायुक्त कुलदीप चौधरी, पुलिस अधीक्षक प्रियदर्शी आलोक एवं वन प्रमंडल पदाधिकारी रजनीश कुमार आदि ने झारखंड विधान-सभा की सरकारी उपक्रमों संबंधी समिति के सभापति नीलकंठ सिंह मुण्डा का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *