जमुआ में आकांक्षी प्रखंड कार्यक्रम को लेकर किया गया चिंतन बैठक, लिए गए कई निर्णय

 

गिरिडीह/ जमुआ :
जमुआ प्रखंड कार्यालय सभागार में बुधवार को बीडीओ अशोक कुमार के नेतृत्व में आकांक्षी प्रखंड कार्यक्रम अन्तर्गत चिंतन शिविर का आयोजन किया गया। मौके पर बीससूत्री अध्यक्ष जुन्नैद आलम, प्रमुख प्रतिनिधि संजीत यादव,उप प्रमुख रब्बुल हशन रब्बानी, 20 सूत्री सदस्य सचिदानंद सिंह,विधायक प्रतिनिधि लक्ष्मण वर्मा, मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष प्रदीप सिंह,मुखिया संघ के कोषाध्यक्ष अबुजर नोमानी सहित सभी विभागों के पदाधिकारी/कर्मी एवं जनप्रतिनिधी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

चिंतन बैठक में विकास योजनाओं में पारदर्शिता लाने एवं प्रखंड के अंतिम व्यक्ति तक विकास योजनाओं को पहुँचाने पर विचार-विमर्श किया गया। इसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, बैंकिंग सुविधा, आवास, घर-घर नल जल योजना, शौचालय, पशुधन, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य उपकेन्द्र,समूह की महिलाओं को स्वालंबी बनाने,पंचायत सचिवालयों में इंटरनेट सुविधा के अलावे अन्य विकास योजनाओं को बेहतर बनाने व आम जनता की पहुंच बनाने पर मंथन एवं चिंतन किया गया।

बैठक के दौरान बीडीओ श्री कुमार ने सरकारी संस्थान के साथ गैर सरकारी संस्थान को मिलकर ग्रुप वर्क करने का निर्देश दिया। सभी विभागों को अपने-अपने आंकड़ा या डाटा को अपडेट करने का निर्देश दिया गया।साथ ही प्रखंड के सभी पंचायतों में शीघ्र मुखिया के अध्यक्षता में इसी तरह चिंतन शिविर लगा कर प्रत्येक पिछड़े हुवे पारा मीटर पर जीतोड़ मेहनत कर अपने पंचायत/ब्लॉक को ऊपर लाने का निर्देश दिया गया।

बैठक में पिरामल फाउंडेशन के मोना प्रेरणा सुरीन ने बताया कि आकांक्षी प्रखंड जमुआ में वर्तमान में जो रेशियो भारत सरकार द्वारा जारी किया गया है उसमें अपने प्रखंड का हेल्थ डिपार्टमेंट में हंड्रेड में मात्र 30 प्रतिशत,शिक्षा विभाग में 20 प्रतिशत,कृषि में 20 प्रतिशत,फाइनेंशियल में15 प्रतिशत,एवं बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर में 15 प्रतिशत है जिसे आज के बाद हमसभों के मदद से उपरोक्त सभी पारा मीटर को हंड्रेड परसेंट करना है।कहा कि हमलोगों को मुख्य रूप से कन्वर्जन,कोलेब्रेसन एवं कॉम्पटीशन ये तीनो बिंदु पर मेन फोकस कर अपने प्रखंड को आकांक्षी प्रखंड से ऊपर उठना है।

मौके पर 20 सूत्री अध्यक्ष जुन्नैद आलम एवं प्रमुख प्रतिनिधि संजीत यादव ने कहा की इसमे संबंधित विभागों के पदाधिकारियों एवं कर्मियों का अहम भूमिका है कहा कि शिक्षा स्वस्थ,पेयजल,कृषि, पंचायती राज, जेएससएलपीएस, आंगनबाड़ी आदि विभागों के कर्मियों को सक्रिय रहकर कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है कहा कि जहाँ हम जनप्रतिनिधियों की आवश्यकता होगा हमलोग खड़े दिखेंगे।कहा कि हम सभी को एक टीम के रूप में मेहनत करने की आवश्यकता है।

कार्यक्रम में पिरामल फाउंडेशन एवं कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन के कई कर्मी मौजूद रहे,जिसमे मुख्य रूप से मोना प्रेरणा सुरीन, मेरी टुडू, अंजली दिप, हिमांशु साहू, यूसुफ ईकबाल, संयुक्ता पात्रा,रहमतुन निशा,विकास कुमार,सत्या,इसके अलावे चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.बिके सिंह,बीईईओ मोहसिन आलम,पंचायती राज पदाधिकारी रामशरण यादव,बीसी नीरज कुमार,अमित कुमार,पीएचइडी के कनिये अभियंता नरोत्तम सिंह मुंडा,संजय गुप्ता, शिव बहादुर,नित्यानंद चौधरी, मुखिया अबुजर नोमानी,रंजीत राम,मनोज हाज़रा,सहित सभी पंचायतों के मुखिया,पंचायत सचिव,जनसेवक एवं सभों विभागों के पदाधिकारी/कर्मी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *