बोकारो में शांतिपूर्ण व कदाचार-मुक्त संपन्न हुई सी-टेट की परीक्षा

पहली पाली में 4512, तो दूसरी में 1711 अभ्यर्थी हुए शामिल
परीक्षा के सफल आयोजन पर सिटी कोऑर्डिनेटर ने सहयोगियों के प्रति जताया आभार

बोकारो। सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) की ओर से रविवार को आयोजित केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सी-टेट) बोकारो में शांतिपूर्ण एवं कदाचार-मुक्त संपन्न हो गई। शिक्षण पेशे के लिए योग्य एवं कुशल उम्मीदवारों के चयन हेतु आयोजित राष्ट्रीय स्तर की यह परीक्षा दो पालियों में आयोजित की गई। पहली पाली सुबह 9:30 से मध्याह्न 12:00 बजे तक हुई, जिसमें पेपर 2 की परीक्षा ली गई। इसमें जिले के कुल 10 परीक्षा केंद्रों पर पंजीकृत 5100 अभ्यर्थियों में से 4512 शामिल हुए, जबकि 588 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। इसी प्रकार, दोपहर 2:00 बजे से 4:30 बजे तक दूसरी पाली में कुल पंजीकृत 2003 परीक्षार्थियों में से 1711 ने पेपर- 1 की परीक्षा दी। 292 अनुपस्थित रहे।

इस आशय की जानकारी देते हुए सी-टेट के सिटी कोऑर्डिनेटर एवं डीपीएस बोकारो के प्राचार्य डॉ ए एस गंगवार ने बताया कि परीक्षा पूरी तरह से शांतिपूर्ण एवं कदाचार-मुक्त माहौल में सफल तरीके से आयोजित की गई। कहीं से भी किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी सामने नहीं आई। उन्होंने इस सफल आयोजन के लिए सभी पर्यवेक्षकों, केन्द्राधीक्षकों, वीक्षकों तथा विशेष रूप से जिला प्रशासन के सहयोग के प्रति आभार व्यक्त किया है।

https://rashtriyamukhyadhara.com/wp-content/uploads/2023/10/nagada-Ad-1a-e1696547149782.jpg

उल्लेखनीय है कि जिले में सी-टेट को लेकर कुल 10 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, जिनमें चिन्मय विद्यालय सेक्टर 5, डीएवी पब्लिक स्कूल सेक्टर 4, गुरु गोविंद सिंह पब्लिक स्कूल सेक्टर 5, होली क्रॉस स्कूल रेलवे कॉलोनी, एमजीएम हायर सेकेंडरी स्कूल सेक्टर 4, क्रिसेंट पब्लिक स्कूल सेक्टर 6, डीएवी पब्लिक स्कूल सेक्टर 6, गुरु गोबिंद सिंह पब्लिक स्कूल जोधाडीह मोड़, चास,  श्री अय्यप्पा पब्लिक स्कूल सेक्टर 5 तथा सेक्टर 4 स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) बोकारो शामिल थे।

पेपर-1 में बाल विकास और शिक्षा शास्त्र, लैंग्वेज-1 व लैंग्वेज-2, गणित और पर्यावरण अध्ययन तथा पेपर-2 में बाल विकास और शिक्षा शास्त्र, भाषा-1, भाषा-2, मैथमेटिक्स और साइंस, सोशल स्टडीज/सोशल साइंस विषयों से प्रश्न पूछे गए। पहला पेपर उन अभ्यर्थियों के लिए होता है, जो पहली से पांचवीं कक्षा तक पढ़ाने के लिए आवेदन करते हैं, वही दूसरा पेपर उनके लिए होता है, जो कक्षा 6 से आठवीं तक में अध्यापन के लिए अप्लाई करते हैं। दोनों ही पेपर 150-150 अंकों के होते हैं।