ईपीक वितरण-प्राप्ति का अद्यतन प्रमाण पत्र सौंपें डिपार्टमेंटः उपायुक्त बोकारो

  • गोपनीय कार्यालय कक्ष में उपायुक्त ने पोस्टल विभाग के सहायक उपाधीक्षक के साथ की बैठक, दिया जरूरी दिशा – निर्देश
  • घर – घर सत्यापन कार्य में मतदाताओं ने पीवीसी (नया) ईपीक प्राप्त नहीं होने की कहीं बात, चुनाव आयोग ने जिले में 42,111 पीवीसी ईपीक पोस्टल को कराया है उपलब्ध

बुधवार को जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त श्रीमती विजया जाधव ने गोपनीय कार्यालय कक्ष में पोस्टल डिपार्टमेंट के सहायक उपाधीक्षक बोकारो श्री अभिजीत कुमार के साथ बैठक किया। मौके पर उप विकास आयुक्त श्री गिरिजा शंकर प्रसाद, जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी श्रीमती शालिनी खालखो, जिला नजारत उप समाहर्ता श्रीमती वंदना शेजवलकर, निर्वाची पदाधिकारी चंदनकियारी सह डीसीएलआर श्री प्रभाष दत्ता आदि उपस्थित थे।

उपायुक्त श्रीमती विजया जाधव ने बोकारो जिले में पोस्टल विभाग द्वारा कितना ईपीक उपलब्ध कराया गया है। इसकी जानकारी जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी से लिया। इस पर जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि 22 जनवरी 2024 से अब तक चुनाव आयोग द्वारा 42,111 पीवीसी (नया) ईपीक पोस्टल विभाग को उपलब्ध कराया गया है। जबकि, वितरण के समय पोस्टल विभाग द्वारा 264 ईपीक मतदाता के नहीं मिलने पर जिला निर्वाचन शाखा को उपलब्ध कराया गया। जिसे बाद में बूथ लेवल आफिसर (बीएलओ) के माध्यम से मतदाताओं को वितरित किया गया। शेष 41,847 पोस्टल विभाग द्वारा वितरण करने की बात कहीं जा रही है। उपायुक्त ने पोस्टल डिपार्टमेंट के सहायक उपाधीक्षक को उपलब्ध ईपीक एवं उसके वितरण/प्राप्ति का प्रमाण पत्र जिला निर्वाचन शाखा को अविलंब समर्पित करने* का निर्देश दिया है।

https://rashtriyamukhyadhara.com/wp-content/uploads/2023/10/nagada-Ad-1a-e1696547149782.jpg

उपायुक्त ने पोस्टल विभाग को सुनिश्चित करने को कहा कि ईपीक कार्ड मतदाता व उनके परिवार के सदस्य के हाथ में ही सुपूर्द किया जाएं। इस कार्य में किसी भी तरह की कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने जिले के सभी डाकघरों के निरीक्षकों के साथ बैठक कर वितरण-प्राप्ति का अद्यतन प्रतिवेदन समर्पित करने को कहा। साथ ही, इस कार्य को अविलंब पूरा करने को कहा।

जानकारी हो कि, जिले में फोटोयुक्त निर्वाचक सूची का द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम 2024 के तहत बूथ लेवल आफिसर एवं वरीय पदाधिकारियों द्वारा घर – घर सत्यापन कार्य के दौरान मतदाताओं को पीवीसी (नया) ईपीक डाक द्वारा उपलब्ध नहीं होने की बात कहीं जा रही है।